नई दिल्ली: जम्मू और कश्मीर (Jammu and Kashmir) में धारा 370 (Article 370) हटाए जाने को लेकर पाकिस्तान से विरोध की आवाजें उठ रही हैं. देश में चल रही इस हलचल के बीच अब पाकिस्तान की नोबेल पीस प्राइज विनर मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) का भी जम्मू और कश्मीर मुद्दे पर रिएक्शन आया है.

हाल ही में मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) ने अपने ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है, ‘कश्मीर के लोग इस संघर्ष में तब से जी रहे है, जब मैं बच्ची थी, जब मेरे माता और पिता बच्चे थे, जब मेरे दादा-दादी जवान थे.’ मलाला के इस ट्वीट पर लोग खूब रिएक्ट कर रहे हैं.

पाकिस्तान की नोबेल पीस प्राइज विनर मलाला यूसुफजई (Malala Yousafzai) के इस ट्वीट पर खूब रिएक्शन आ रहे हैं. नोबेल पुरस्कार विजेता मलाला यूसुफजई पर फिल्म भी बन चुकी है और इसका नाम ‘गुल मकई’ है. मलाला ने कश्मीर और उसके लोगों के लिए शांति की कामना भी की है. बता दें जम्मू-कश्मीर से धारा 370 (Article 370) हटाने का बिल गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने राज्यसभा और लोकसभा में पेश किया था, जिसके बाद सदन के सदस्यों ने जम्मू-कश्मीर को भारत का अभिन्न हिस्सा मानते हुए, इस बिल को भारी बहुमत के साथ दोनों सदनों से पारित कराया. हालांकि अब नए कानून के तहत धारा 370 का केवल एक खंड जम्मू-कश्मीर पर लागू होगा.

इसके अलावा जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेशों में शामिल कर दिया गया है. बता दें कि बीते सोमवार यानी 5 अगस्त के दिन ये बिल पेश किया गया था. इसके बाद पाकिस्तानी एक्ट्रेस माहिरा खान (Mahira Khan) ने भी कश्मीर में बने हालातों को लेकर एक ट्वीट किया था. जिसमें उन्होंने कहा था कि जन्नत जल रही है और हम चुपचाप आंसू बहा रहे हैं.