जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के मोदी सरकार के फैसले को लेकर कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री मणिशंकर अय्यर ने विवाद खड़ा कर दिया है. हमेशा विवादों में रहने वाले मणिशंकर अय्यर ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू-कश्मीर को फिलिस्तीन बना दिया है. अंग्रेजी अखबार ‘द इंडियन एक्सप्रेस’ में छपे एक लेख में मणिशंकर अय्यर के हवाले से कहा गया है कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने हमारी उत्तरी सीमा पर जम्मू-कश्मीर को फिलिस्तीन बना दिया है. मोदी-शाह ने अपने गुरु बेंजामिन नेतन्याहू और मेनकेम बेग से काफी कुछ सीखा है. उन्होंने सीखा है कि कैसे कश्मीरियों की स्वतंत्रता, गरिमा और आत्मसम्मान को रौंदना है जैसे फिलिस्तीन में इजरायल ने रौंदा.

मणिशंकर अय्यर ने कहा,” नरेंद्र मोदी और अमित शाह ने पहले घाटी में लगभग 35,000 अतिरिक्त सशस्त्र कर्मियों को तैनात करने के लिए घाटी में बड़े पैमाने पाकिस्तानी आतंकवादी हमले का अफवाह उड़ाई. इसके बाद उन्होंने कश्मीर से हजारों अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों को जबरन निकाला.”

मणिशंकर अय्यर का कहना है कि सरकार ने 400 से अधिक स्थानीय नेताओं को हिरासत में लिया है. स्कूलों और कॉलेजों, दुकानों और होटलों, पेट्रोल पंपों और गैस आउटलेट्स को बंद कर दिया गया है. घाटी के माता-पिता देश के बाकी हिस्सों में अपने बेटे और बेटियों से संपर्क करने में असमर्थ हैं. मौलिक अधिकारों के नाम पर कश्मीर के लोगों के मौलिक अधिकारों को खत्म किया जा रहा है.

मणिशकंर अय्यर के लेख और पी चिदंबरम के बयान पर बीजेपी ने पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेसी नेता देश को तोड़ने की बात कर रहे हैं. केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, देश उनको नकार चुका है लेकिन उनको सबक नहीं मिला. ये पाकिस्तानी चैनल में छाने के लिए ऐसी बात करते हैं. मणिशंकर तो मोदी को हटाने के लिए पाकिस्तान तक पहुंच गए थे.