कांग्रेस नेता शशि थरूर ने सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल को कश्मीर भेजने की मांग की है. शशि थरूर ने ट्विटर पर लिखा, ‘केवल राहुल गांधी क्यों, हम कांग्रेस की ओर से गवर्नर साहब आपसे मांग करते हैं कि एक सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल को जम्मू-कश्मीर में बुलाया जाए. यह प्रतिनिधिमंडल कश्मीर के हालात का जायजा लेगा. आप इस यात्रा की व्यवस्था करें.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने जम्मू और कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक से अपील की है कि विपक्षी नेताओं के दल को जम्मू और कश्मीर जाने की इजाजत दी जाए. राहुल गांधी ने सत्यपाल मलिक के नाम पर ट्वीट करते हुए कहा है कि मैं विपक्ष के नेताओं के साथ जम्मू-कश्मीर और लद्दाख आने के निमंत्रण को स्वीकार करना चाहता हूं.

राहुल गांधी ने कहा, ‘हमें एयरक्राफ्ट मत दीजिए, लेकिन इस बात को तय कर दीजिए कि हमें वहां घूमने और लोगों से मिलने की आजादी होगी. हमारे मेन स्ट्रीम लीडर और सेना के जवान वहीं रहेंगे.’

दरअसल जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने अनुच्छेद 370 में बदलाव किए जाने के बाद राज्य में हिंसा वाले बयान को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर पलटवार किया था. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष को घाटी का दौरा कराने और जमीनी स्थिति का जायजा लेने के लिए वह विशेष विमान भेजेंगे.

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल को कश्मीर भेजने की मांग की थी. शशि थरूर ने ट्विटर पर लिखा, ‘केवल राहुल गांधी क्यों, हम कांग्रेस की ओर से गवर्नर साहब आपसे मांग करते हैं कि एक सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल को जम्मू-कश्मीर में बुलाया जाए. यह प्रतिनिधिमंडल कश्मीर के हालात का जायजा लेगा. आप इस यात्रा की व्यवस्था करें.

राज्यपाल ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को हटाने में कोई सांप्रदायिक दृष्टिकोण नहीं है. हाल में राहुल गांधी ने कहा था कि जम्मू-कश्मीर में हिंसा की खबरें हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को देश को सच बताना चाहिए कि असल में कश्मीर में क्या हो रहा है.